बुद्ध पूर्णिमा पर सीएम व डिप्टीसीएम ने प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/ अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 25 मई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।
आज यहां जारी एक शुभकामना संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि महात्मा बुद्ध का अहिंसा, करुणा और मैत्री का संदेश सम्पूर्ण मानवता के लिए अमूल्य निधि है। उन्होंने चित्त की शांति तथा हृदय में करुणा की शिक्षा दी। वर्तमान समय में महात्मा बुद्ध के बताये मार्ग पर चलकर विश्व में शांति एवं सद्भाव का वातावरण सृजित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि महात्मा बुद्ध का संदेश मानव मात्र के लिए हमेशा प्रासंगिक बना रहेगा। महात्मा बुद्ध की शिक्षा हम सभी को जीवन में धर्म का आचरण करने, नैतिक मूल्यों और अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूक रहने के लिए प्रेरित करती है। महात्मा बुद्ध ने विश्व कल्याण के लिए मैत्री भावना तथा बिना किसी भेदभाव के संगठित रहने पर बल दिया। साथ ही, अतीत या भविष्य का चिंतन न करके वर्तमान का सदुपयोग करने की शिक्षा दी। मुख्यमंत्री ने लोगों से आंशिक कोरोना कफ्र्यू का पूर्ण पालन करते हुए बुद्ध पूर्णिमा पर सभी धार्मिक अनुष्ठान घर पर ही करने की अपील की है।
उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर देश व प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।
     उन्होंने बुद्ध पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि भगवान बुद्ध का जीवन दर्शन आज भी प्रासंगिक है। समाज में शांति , सद्भाव व सदाचार का वातावरण बनाए रखने में उनके आदर्शों से हम सबको प्रेरणा मिलती है। श्री मौर्य ने कहा कि भगवान बुद्ध ने अपने ज्ञान का प्रकाश पूरी दुनिया में फैलाया। विश्व के कई देशों में बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाती है। महात्मा बुद्ध ने कहा था कि ईर्ष्या व्यक्ति के मन की शांति को खत्म कर देती है। उन्होने सदाचार व शांति के सन्मार्ग पर चलने का संदेश पूरे समाज को दिया ।उनके जीवन सुकृत्यों से न केवल हमें सीख लेनी चाहिए, बल्कि हमें उनका जीवन दर्शन आत्मसात भी करना चाहिए।