उपमुख्यमंत्री ने आमजन से ‘‘सड़क सुरक्षा” का आव्हान किया

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 4 मार्च। उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस के अवसर पर समाज के प्रबुद्ध व्यक्तियों व समाजसेवियों से अपील की है कि वह लोगों को राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति अधिक से अधिक जागरूक करने का प्रयास करें। इस वर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस की थीम ‘‘सड़क सुरक्षा (रोड सेफ्टी)’’ है। श्री मौर्य ने कहा है, जिस प्रकार से स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत अभियान चलाकर देश में काफी हद तक बीमारियों पर काबू पाया गया है, उसी तरह से सड़क सुरक्षा अभियान चलाकर अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करके लोगों की जान बचाने का प्रयास हम सबको मिलकर करना है।
श्री मौर्य ने आम जनमानस का आह्वान करते हुये कहा है कि हम सब लोग शादी, जन्मदिवस व अन्य मांगलिक कार्यक्रमों में सड़क सुरक्षा से जुड़े उपहार जैसे हेल्मेट आदि दें तो बहुत ही अच्छा होगा इससे अन्य लोग भी प्रेरित होंगे। उन्होने कहा कि सुरक्षा के सभी विषयों को ध्यान में रखकर स्कूली शिक्षा में इसे स्थान दिया जाय तो और अधिक बेहतर होगा। सड़क पर जहां दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्र है, स्पीड बे्रकर बनाये जाते हैं, इसके अलावा तीव्र मोड़, स्कूल, काॅलेज, पेट्रोल पम्प, अस्पताल, बाजार आदि के सिम्बल (प्रतीक चिन्ह) सड़कों के किनारे लगाये जाते हैं। लोगों को इन पर नजर रखते हुये, अपने वाहनों की गति को संतुलित करते हुये चलाना चाहिये तथा सीट बेल्ट का प्रयोग अवश्य करें ताकि कोई जनहानि न हो तथा कोई भी अपंग न हो। सड़क सुरक्षा के प्रति अपनी मार्मिक अपील में श्री मौर्य ने कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। हम राष्ट्र व समाज के प्रति अपने दायित्वों का निर्वहन करें। दूसरों के द्वारा किये गये सुरक्षित व्यवहार को सक्रियता से प्रोत्साहित करें और असुरक्षित व्यवहार को दूर करने की कोशिश करें। उन्होने कहा की जीवन सुरक्षा ही सर्वोपरि है, सुरक्षा बिना सब व्यर्थ है। जीवन सुरक्षा कोई नारा नहीं है, बल्कि यह एक जीने का तरीका है। उन्होने कहा कि सेफ्टी एक इंजन है, जिसे चालू करने की चाबी केवल आमजन के पास ही है। उन्होने यह भी अपील की, कि दिन की शुरूआत धरती माता को नमन करते हुये करें।